YUVAL NOAH  HARARI : इतिहास, विज्ञान और मानवता..

Spread the love

अंसख्य एतिहासिक परतों से ढका हुआ,आज का मानव, हर मानव का अपना तैरता इतिहास, हर इतिहास पर गड़े अनगिनत भ्रम और इन्ही सब पर रखा हुआ, हमारा लड़खड़ाता वर्तमान।

आज के समय में,मानवजाति क्रम विकास के इसी ऊहापोह को, हमारे समक्ष रख रहे हैं, एक लेखक, एक इतिहासकार, जिनका लेखन उस नदी की तरह है ,जिसका जल ,विश्व इतिहास की बारीक समझ है और अंत, मानवीय चेतना का क्षणिक बोध।

“उपलब्धि के लिए मानव मन की सबसे आम प्रतिक्रिया संतुष्टि नहीं है, लेकिन अधिक के लिए लालसा है”

होमो डेयस- आने वाले कल का संशिप्त इतिहास‘ किताब का यह वाक्य आपको अपने आप पर सवाल करने पर विवश करेगा।

Yuval nova harari novel

इसी तरह ‘सेपियन्स-मानव जाति का संक्षिप्त इतिहास’ किताब का यह विचार कि“धन, सामाजिक स्थिति, प्लास्टिक सर्जरी, सुंदर घर, शक्तिशाली स्थिति – इनमें से कोई भी आपको खुशी नहीं देगा। अंतिम खुशी केवल सेरोटोनिन, डोपामाइन और ऑक्सीटोसिन से होती है”,मानव जाति की उप्लब्दियों पर एक प्रहार है, अनगिनत वर्षो की बायोलॉजिकल रिसर्च के बाद भी सेरोटोनिन,डोपामाइन और ऑक्सीटोसिन जैसे हॉर्मोन्स जो मनुष्य की खुशी के लिए जिम्मेदार है, पर कोई साइंटिफिक रिसर्च नहीं की जा रही है। मानव के इस क्रम विकास में एक मापदण्ड, जिसपर कोई काम नही किया गया ,वह है, खुशी, आनंद।

Yugal noah hamari best novel

इस तरह का लेखन ,जहाँ इतिहास में की गई मानवीय गलतियों को सामने रखने के साथ साथ इनके उपायों पर भी गहन चिंतन किया जा रहा है। एक लेखन, जो बहुत वर्षों की रिसर्च के बाद हमारे सामने आया है। एक लेखन, जहाँ आप विज्ञान और मानवता का संगम देख पाते है और यह सब कुछ लिख रहे हैं,हिब्रू विश्वविद्यालय में विश्व इतिहास के विशेषज्ञ युवेल नोह हरारी।

Yuval noah harari

इज़राइल में जन्मे, यह लेखक,जेरूसलम के पास मोशव नाम के गाँव मे अपने पति के साथ रहते हैं, हाँ वह गे हैं और अपनी सेक्सुअलिटी के बारे में आम तौर पर इंटरव्यूज में बात करते रहते हैं।

‘सेपियन्स-मानव जाति का संक्षिप्त इतिहास’ किताब में उन्होंने बड़े ही साफ शब्दों में प्राकर्तिक और अप्रकार्तिक विषय पर एक रोचक टिप्पड़ी लिखी है वह यह कि

“संस्कृति यह तर्क देती है कि यह केवल वही रोकती है जो अप्राकृतिक है। लेकिन जैविक दृष्टिकोण से, कुछ भी अप्राकृतिक नहीं है। जो भी संभव है वह परिभाषा द्वारा भी स्वाभाविक है। वास्तव में अप्राकृतिक व्यवहार, एक जो प्रकृति के नियमों के खिलाफ जाता है, अस्तित्व में नहीं हो सकता है, इसलिए इसे निषेध की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए”

युवेल नोह हरारी उन लेखकों में आते हैं,जिनका लेखन और व्यक्तित्व, एक दूसरे के प्रतिभिम्ब हैं। उनका जीवन, एक तरह से ,इतिहास में किये गए मानव जाति के दोषों पर पूर्ण विराम सा दिखता है, जहाँ वह स्मार्टफोन का इस्तेमाल नहीं करते हैं, पूरी तरह शाकाहारी जीवन जीते हैं, अपनी सेक्सुअलिटी को जानना ,आत्म -बोध मानते हैं, एजुकेशन सिस्टम में बादलाव की बात करते हैं और जीवन के वैज्ञानिक दृष्टिकोण पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित कर उसमें मानव धर्म की खोज करते नज़र आते हैं।

उनके बहुत से इंटरव्यूज में आपको उनका व्यक्तित्व सरलता के साथ नज़र आ सकता है।गूगल के साथ एक इंटरव्यू में वह गूगल और उनकी तरह की कम्पनीज को लॉयर्स के द्वारा रची गयी फेक न्यूज़ कहते है, एक और इंटरव्यू में हम उनसे सुनते हैं कि कब उन्हें अपनी सेक्सुअलिटी का पता लगा और कब उन्होंने यह समझा कि समाज का यह कहना कि एक लड़के का लड़की को प्रेम करना ही प्राकर्तिक है, एक गलत धारणा है।

Yugal noah hamari. Giving interview

” यह इतिहास सीखने का सबसे अच्छा कारण है: भविष्य की भविष्यवाणी करने के लिए नहीं, बल्कि अपने आप को अतीत से मुक्त करने और वैकल्पिक नियति की कल्पना करने के लिए। बेशक, यह कुल स्वतंत्रता नहीं है – हम अतीत से आकार लेने से बच नहीं सकते। लेकिन कुछ स्वतंत्रता कुछ भी नहीं से बेहतर है”

‘होमो डेयस- आने वाले कल का संशिप्त इतिहास’ किताब का यह वाक्य उनके लेखन का, उनके वयक्तित्व का और उनके जीए हुए जीवन का ,जमा हुए सार सा है, जिसमे स्वछंद विचरती है, मानव चेतना को समर्पित स्वतंत्रता।

Writings of yuval noah harari

तो अगर अभी तक आपने युवेल नोह हरारी के लेखन से मुलाकात नहीं की है, तो इनकी पहली किताब ” सेपियन्स-मानव जाति का संक्षिप्त इतिहास” से शुरू करें। यह हिंदी में भी उपलब्ध है। हरारी अभी तक तीन किताबें लिख चुके हैं और इनकी हर किताब आपको मानव जाति के असंख्य दबे हुए तथ्यों से रूबरू कराती है। मानव के भूत,भविष्य और वर्तमान का एक संतुलित प्रवाह हरारी की हर किताब में आपको मिलेगा।

खुद को समझने की आपकी लालसा को एक स्तर तक शांति प्रदान करता युवेल नोह हरारी का लेखन,इतिहास, विज्ञान और मानवता का एक बुद्धिमान,सरल और चैतन्य मिश्रण है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: